saubhagya scheme सौभाग्य योजना

saubhagya scheme सहज बिजली हर घर योजना

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 25 सितंबर को प्रधान मंत्री सहज बिजली हर घर योजना अथवा सौभाग्य योजना saubhagya scheme  शुरू की।

प्रधान मंत्री सहज बिजली हर घर योजना का उद्देश्य:

इस योजना  saubhagya scheme का लक्ष्य दिसंबर 2018 तक ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों में 4 करोड़ से अधिक परिवारों के लिए बिजली कनेक्शन प्रदान करना है।

योजना का कुल परिव्यय

सौभाग्य योजना saubhagya scheme का कुल परिव्यय 16,320 करोड़ रुपये है जबकि सकल बजट सहायता (जीबीएस) 12,320 करोड़ रुपये है। ग्रामीण परिवारों के लिए कुल खर्च 14,025 करोड़ रुपये है और शहरी परिवारों के लिए यह 2,295 करोड़ रुपये है।

सौभाग्य योजना के प्रमुख बिंदु:

  • सौभाग्य योजना के तहत, 2011 के सामाजिक-आर्थिक और जाति की जनगणना द्वारा पहचाने गए लोगों को फ़्री बिजली कनेक्शन मुहैया कराएंगे, जबकि अन्य को 500 रुपये देना होगा, जो बिल में 10 किश्तों में देय होगा
  • लाभार्थियों के आसान और त्वरित पहचान के लिए एक मोबाइल ऐप का प्रयोग किया जाएगा और आवेदनों के मौके पर पंजीकरण के लिए उपयोग किया जाएगा, जिसमें एक पहचान प्रमाण शामिल होगा
  • इस योजना के तहत, केंद्र, दूरस्थ और दुर्गम क्षेत्रों में स्थित गैर विद्युतीकृत घरों के लिए, बैटरी बैंक के साथ 200 से 300 वाट-पीक (डब्ल्यूपी) के सौर ऊर्जा पैक भी उपलब्ध कराएगा। इस सौर पैक में पांच एलईडी लाइट, एक डीसी पंखा और एक डीसी पावर प्लग शामिल होंगे
  • इस योजना को निम्नलिखित अनुपात में वित्त पोषित किया जा रहा है: 60 प्रतिशत केंद्रीय अनुदान, 30 प्रतिशत बैंक ऋण और 10 प्रतिशत राज्यों द्वारा
  • जो राज्य इस योजना को समयसीमा तक पूरा करने में सक्षम होंगे, जो कि अगले वर्ष दिसंबर है, को प्रोत्साहन के रूप में केंद्र द्वारा अतिरिक्त 15 प्रतिशत अनुदान दिया जाएगा।

 

Indian Polity

STATISTICAL ANALYSIS GRAPHS & DIAGRAMS( HINDI)

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *