उत्तर कोरिया पर संयुक्त राष्ट्र ने नए प्रतिबंध लगाए

उत्तर कोरिया पर संयुक्त राष्ट्र ने नए प्रतिबंध लगाए

उत्तर कोरिया के नवीनतम मिसाइल परीक्षण के जवाब में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने सर्वसम्मति से उत्तर कोरिया पर नए प्रतिबंध लगाए हैं

अमेरिका द्वारा प्रस्तावित प्रतिबंध, उत्तर कोरिया को अपने परमाणु कार्यक्रम को आगे बढ़ाने से रोकने के लिए तैयार किए गए हैं

प्रतिबंधों में उत्तरी कोरिया को लगभग 90% परिष्कृत पेट्रोलियम निर्यात पर रोक शामिल है

यह प्रस्ताव उत्तर कोरिया के नागरिकों को भी आदेश देता है जो विदेशों में काम करते हैं कि 24 महीनों के भीतर वे अपने देश में लौट जाएँ

इस संकल्प में “छह-पक्षीय वार्ता” की बहाली के लिए एक प्रतिबद्धता भी शामिल है, जिससे संभव राजनयिक वार्ता के लिए दरवाजा खुले छह-पक्षीय वार्ता एक राजनयिक प्रयास है, जिसका उद्देश्य कोरियाई प्रायद्वीप में सुरक्षा चिंताओं का शांतिपूर्ण समाधान खोजा जाए इसमें उत्तरी कोरिया, दक्षिण कोरिया और अमेरिका के आलावा क्षेत्रीय शक्तियां चीन, जापान और रूस शामिल हैं

पिछली  छह-पक्षीय वार्ता 2009 में हुई थीं

इस कदम के पीछे इरादा

यह विचार उत्तर कोरिया की आय को जितना हो सके कम करने, उसके राजस्व को कम करने के लिए है जिससे वह बातचीत की मेज पर आगे आए और अपनी मिसाइल विकास प्रक्रिया को रोके

पिछले महीने, अमेरिका ने उत्तरी कोरिया के खिलाफ नए प्रतिबंधों को लगाया जो इसके परमाणु और बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रमों के लिए धन को सीमित करने के लिए डिजाइन किए गए थे

उपायों में उत्तर कोरिया के शिपिंग ऑपरेशन और चीनी कंपनियों को प्योंगयांग के साथ व्यापार करने के लिए लक्षित किया 3 सितंबर को उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण के बाद यूएन ने भी नए प्रतिबंधों को मंजूरी भी दी है

इन उपायों में तेल के आयात और प्रतिबंधित कपड़ा निर्यात हैं – इससे उत्तर कोरिया के पास अपने हथियार कार्यक्रमों के लिए धन ना हो

उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग की सरकार ने इस वर्ष कई मिसाइल परीक्षण किए हैं, जिनकी अंतर्राष्ट्रीय समुदाय ने निंदा की है

हाल ही में, नवंबर 2017 में, उत्तर कोरिया ने सफलतापूर्वक अमेरिका की मुख्य भूमि तक पहुंचने में सक्षम एक नई अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) का परिक्षण किया था

मिसाइल को “सबसे शक्तिशाली आईसीबीएम” कहा गया है जिसे अभी देश द्वारा जांचना है

यह इस साल उत्तरी कोरिया द्वारा आईसीबीएम का तीसरा परीक्षण था

उत्तर कोरिया की प्रतिक्रिया

उत्तर कोरिया के अनुसार नवीनतम संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंध उत्तर कोरिया गणराज्य की संप्रभुता का एक हिंसक उल्लंघन और युद्ध के एक कदम के रूप में है जो कोरियाई प्रायद्वीप और एक व्यापक क्षेत्र की शांति और स्थिरता को नष्ट करता है

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *